ताजमहल के पास शुभ रिसोर्ट होटल में पुलिस ने छापा मारा

ताजमहल के पास शिल्पग्राम मार्ग पर हाई सिक्योरिटी जोन में देह व्यापार का अड्डा चल रहा था। सीओ सदर के नेतृत्व में ताजगंज पुलिस ने गुरुवार को शुभ रिसोर्ट होटल में छापा मारा। मौके से चर्चित एजेंट भीमा समेत आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है। पकड़ी गई युवतियों में दो विदेशी हैं। उज्बेकिस्तान की हैं। भीमा उन्हें कांट्रेक्ट पर लेकर आया था।

शिल्पग्राम से लेकर ताजमहल के पूर्वी गेट पर पुलिस का कड़ा पहरा रहता है। दर्जनों की संख्या में पुलिस कर्मी सड़क पर चौबीस घंटे ड्यूटी करते हैं। सीओ ताज सुरक्षा का कार्यालय भी शिल्पग्राम में है। यह इलाका हाई सिक्योरिटी जोन में आता है। पुलिस दावा करती है कि उसकी मर्जी के बिना यहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता। इसी जोन में स्थित होटल शुभ रिसोर्ट में देह व्यापार का अड्डा चल रहा था। धांधूपुरा निवासी चर्चित युवतियों का एजेंट भीमा देशी-विदेशी युवतियों को ठेके पर लेकर आता था। यहां रुकवाता था। उसके बाद यहां ग्राहक भेजे जाते थे।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि सीओ सदर राजीव कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम होटल पर पहुंची थी। उज्बेकिस्तान की दो युवतियों सहित आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है। आरोपियों में धांधूपुरा निवासी सुरेंद्र उर्फ भीमा भी शामिल है। विदेशी युवतियों को देह व्यापार के लिए उसने ठेके पर बुलाया था। इनकी फोटो व्हाट्सएप पर ग्राहकों को भेजी जाती हैं। पसंद करने के बाद ग्राहक को युवती के पास भेजा जाता है। भीमा वर्षों से यह काम कर रहा है। होटल से पुलिस ने जिन लोगों को हिरासत में लिया है उनसे पूछताछ की जा रही है।

एक साल पहले पकड़ा गया था भीमा

भीमा पहली बार पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। इससे पहले भी जेल जा चुका है। जनवरी 2020 में उसे तत्कालीन इंस्पेक्टर ताजगंज अनुज कुमार ने पकड़ा था। उस समय उसके पास से चरस बरामद हुई थी। अकेला था इसलिए देह व्यापार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज नहीं किया गया था। उसके मोबाइल से पुलिस को शहर के कई दलालों के नंबर मिले थे। उससे मिली जानकारी के बाद कई लोगों को पकड़ा गया था। छापेमारी की गई थी। कई ऐसे होटल सामने आए थे जिन्हें देह व्यापार के लिए भाड़े पर लिया जाता था। होटल संचालक तक जेल गए थे।

हजारों नंबर मिले थे मोबाइल फोन में

भीमा पिछले साल जब पकड़ा गया था तो उसका मोबाइल देखकर पुलिस के होश उड़ गए थे। भीमा के मोबाइल में 500 से अधिक देसी-विदेशी युवतियों के नंबर मिले थे। घरेलू महिलाओं से लेकर कॉलेज गर्ल्स तक उसके संपर्क में थीं। उसके मोबाइल की फोटो गैलरी में युवतियों के अश्लील फोटोग्राफ मिले थे। यही फोटो ग्राहकों को युवतियां पसंद कराने के लिए भेजे जाते थे। पुलिस ने उस समय भीमा के तीन मोबाइल जब्त किए थे। भीमा ने पुलिस को बताया था कि वह कई वर्षों से इस धंधे में लिप्त है। भारत के सभी शहर में युवती सप्लाई कराता है।

बदल जाते हैं होटलों के नाम

ताजगंज क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक होटलों में देह व्यापार पकड़ा जा चुका है। अभी तक एक भी होटल बंद नहीं हुआ है। पुलिस सख्ती करती है तो होटल का नाम बदल दिया जाता है। संचालक बदल जाते हैं। अभी तक पुलिस ने अपने स्तर से किसी भी होटल को सील नहीं किया है। हाल ही में जगदीशपुरा क्षेत्र में एक होटल पकड़ा गया था। जहां घंटों के हिसाब से युवक-युवतियों को किराए पर कमरे दिए जाते थे। इससे पहले एत्मादपुर के एक होटल में देह व्यापार पकड़ा गया था।

पर्यटक हैं कम, खर्चे हैं ज्यादा

एक होटल संचालक ने बताया कि लोगों ने होटल तो खोल लिए हैं। अब उनके खर्चे नहीं निकल रहे हैं। बड़ी संख्या में मालिकों को अपनी जेब से कर्मचारियों को वेतन देना पड़ रहा है। कोरोना के बाद होटलों की हालात और खराब हो गई है। पर्यटक हैं। बंद होटल का बिजली बिल भी हजारों का आता है। कई होटल मालिकों ने अपने होटल भाड़े पर दे दिए हैं, जिन्होंने होटल भाड़े पर ले रख हैं वे खर्चे निकालने के लिए राह से भटक जाते हैं। होटल में गलत काम कराते हैं। ताकि पैसे मिलते रहें। मुनाफा नहीं हो तो स्टाफ का खर्चा निकलता रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129