टोक्यो : स्कूलों ने फरमान जारी किया, यदि किसी छात्र के बाल वेवी हैं या काले रंग के नहीं हैं तो उन्हें इनके अर्टिफीशियल या कलर्ड न होने का प्रमाण देना होगा

भारत में अकसर स्कूलों में डिसीप्लिन के तहत बच्चों को बालों की ओवर स्टाइलिंग के लिए डांट पड़ती है। लेकिन कैसा हो अगर कोई आपसे आपके बालों के असली होने का प्रमाणपत्र मांगने लगे? दरअसल जापान में जन्म से काले बाल नहीं होने पर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां के टोक्यो में ऐसा ही कुछ हो रहा है। लगभग आधे स्कूलों ने  फरमान जारी कर दिया है कि यदि किसी छात्र के बाल वेवी हैं या काले रंग के नहीं हैं तो उन्हें इनके अर्टिफीशियल या कलर्ड न होने का प्रमाण देना होगा।

शहर के 177 स्कूलों में से 79 ने ये आदेश दिया है। बता दें कि जापान में कई स्कूलों में बाालों के रंग, मेकअप, यूनिफॉर्म और यहां तक कि लड़कियों की स्कर्ट की लंबाई तक के लिए सख्त नियम हैं।

टोक्यो के शिक्षा बोर्ड ने जापान की मीडिया NHK को बताया कि बालों के लिए प्रमाण पत्र हर जगह अनिवार्य नहीं हैं। लेकिन  79 स्कूलों में से केवल पांच स्कूलों ने यह स्पष्ट किया है कि यह आवश्यकता नहीं है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129