मेरठ में एक युवती के दूसरे समुदाय के युवक से शादी कराने को लेकर हिंदू संगठनों ने किया हंगामा

मेरठ के कंकरखेडा क्षेत्र की श्रद्धापुरी में एक युवती के दूसरे समुदाय के युवक से शादी कराने को लेकर हिंदू संगठनों ने हंगामा कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि युवती का निकाह कराया गया है और शादी के नाम पर युवती और परिवार को गुमराह किया गया है। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने दोनों को बरामद कर कार्रवाई की मांग की। काफी देर तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लिया।

हंगामा कर रहे लोगों के मुताबिक श्रद्धापुरी की डबल स्टोरी में कुछ लोगों ने शनिवार दोपहर यह शादी कराई। शादी के फोटो दो घंटे बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। इसकी भनक लगते ही बजरंग दल के पूर्व प्रदेश संयोजक बलराज डूंगर, महानगर प्रचार प्रमुख मधुबन आर्य, भाजपा नेता वैभव त्यागी, ऋषभ सिंह सहित अन्य काफी संख्या में थाने पर पहुंचे।

उन्होंने शादी पर आपत्ति जताई और कहा कि युवती के परिजनों को गुमराह कर शादी कराई गई है। उन्होंने पुलिस को 12 घंटे का अल्टीमेटम दिया और हाईवे जाम करने की चेतावनी दी।
थाने पर हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने टीम गठित कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। वहीं, एक आरोपी को हिरासत में भी ले लिया। थाने पर हंगामा करने वालों में गोपाल, पवन भारद्वाज, अवनीत बंसल, हिमांशु शर्मा, मधुबन शर्मा, निमेश वशिष्ठ सहित अन्य शामिल रहे।

वहीं, सीओ संजीव दीक्षित के मुताबिक एक प्रमाण पत्र के आधार पर शादी करने वाली बालिग है। युवक दूसरे समुदाय का है। पूर्व में भी इस युवती की शादी होने की जानकारी मिली है। युवती की मां भी घर पर नहीं है। मामले की जांच जारी है। उपलब्ध तथ्यों के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

युवती को ले गया दूसरे संप्रदाय का युवक
क्षेत्र के एक गांव से शुक्रवार को दूसरे संप्रदाय का एक युवक युवती को बहला-फुसलाकर ले गया। मामला दो संप्रदाय का होने के कारण हिंदू संगठन सहित परिजन पुलिस के पास पहुंचे। दबाव बनने पर घटना के करीब 12 घंटे बाद ही युवती को बरामद कर लिया गया। इस दौरान गांव में तनाव की स्थिति बनी रही। बाद में युवती के परिजनों ने कार्रवाई से इनकार कर दिया।  क्षेत्र के एक गांव में से शुक्रवार सुबह एक युवती अचानक घर से लापता हो गई।

परिजनों ने खोजबीन की तो पता चला कि गांव का ही दूसरे संप्रदाय का युवक युवती को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया है। मामला दो संप्रदाय का होने के कारण गांव में तनाव की स्थिति पैदा हो गई। शाम को हिंदू संगठन के पदाधिकारी और युवती के परिजन पुलिस के पास पहुंचे और बरामदगी के लिए दबाव बनाया। जिसके बाद पुलिस ने तुरंत कई स्थानों पर दबिश दी।

दबाव पड़ने पर आरोपी युवक युवती को गांव के बाहर छोड़ गया। देर रात पुलिस ने युवती को बरामद कर परिजनों को सौंप दिया। थाना प्रभारी ने मामले में तहरीर मिलने से इनकार किया है। सीओ किठौर बृजेश कुमार का कहना   है कि जिस गांव की यह घटना है वह अति संवेदनशील है। पीड़ित पक्ष की ओर से कोई तहरीर आती है तो कार्रवाई की जाएगी

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129